बुधवार, 17 जुलाई 2013

आपदा प्रभावितो को मिल रहे फटे कपड़े, सड़ा खाना

आपदा प्रभावितो को मिल रहे फटे कपड़े, सड़ा खाना
राजेन्द्र जोशी
देहरादून : आपदा से प्रभावित परिवारों तक पहुंचने वाली राहत अब प्रभावितों का मजाक उड़ाने लगी है। पुरोला में प्रभावितों के लिए राहत के नाम पर फटे पुराने कपड़ों से भरे बोरे और सड़ चुका खाद्यान्न पहुंचाया गया। सामान को देखकर प्रभावित सकते में है।
जून में आई आपदा से यमुना घाटी में भी काफी नुकसान हुआ। प्रभावित परिवारों को राहत देने के लिए देश विदेश से कई हाथ आगे आ रहे है। लेकिन इन दानदाताओं में से कईयों ने अपनी राहत देकर प्रभावितों का मजाक उड़ाया है। पुरोला में आपदा राहत के नाम पर दर्जनों बोरों में भरकर पुराने फटे कपड़े भेजे गये है। तो खाद्यान्न के नाम पर सड़ चुकी ब्रेड रस और खराब पानी की बोतलें भेजी गई है। वहीं बड़ी मात्रा में यहां पहुंचा राहत का सामान प्रशासन की भी गले की हड्डी बन चुका है। प्रभावित परिवारों ने इस राहत को स्वीकारने से साफ तौर पर मना कर दिया है। जिसके बाद अब प्रशासन के लिए यह राहत का सामान कबाड़ बनकर रह गया है।
आपदा प्रभावित मोरी के लिवाड़ी, फिताड़ी, राला, कास्ला समेत अन्य गांवों में लोगों को आपदा का सबसे ज्यादा नुकसान सहना पड़ा। संपर्क मार्गाे के ध्वस्त होने के बाद यहां खाद्यान्न समेत जरूरी चीजों का संकट गहरा रहा है। ऐसे में राहत के नाम पर किया जा रहा यह मजाक प्रभावितों के गले नहीं उतर रहा।