गुरुवार, 29 अगस्त 2013

नंदा राजजात एक बार फिर हुई स्थगित

नंदा राजजात एक बार फिर हुई स्थगित

कर्णप्रयाग ।  उत्तराखंड के चमोली जिले में प्रत्येक 12 वर्ष में एक बार होने वाली धार्मिक नंदादेवी राजजात यात्रा इस वर्ष प्राकृतिक आपदा के कारण स्थगित कर दी गयी है.
  कर्णप्रयाग में नंदादेवी राजजात यात्रा की परंपरागत आयोजन समिति के अध्यक्ष राकेश कुंवर ने बुधवार को इस आशय की विधिवत घोषणा करते हुए कहा कि इसी माह की 29 तारीख से नौटी गांव से प्रस्तावित यात्रा के आयोजन की नयी तिथियां 10 दिन के भीतर घोषित कर दी जायेंगी.
गढ़वाल और कुमांऊ के पांच सौ से अधिक गांवों की देव डोलियों को अलग-अलग जगह पर सम्मिलित होकर हिमालय की बर्फीली चोटियों के समीप स्थित होमकुंड तक की यात्रा करनी थी.
इस वर्ष नंदा राजजात यात्रा 13 वर्ष बाद हो रही थी लेकिन भारी बारिश और भूस्खलन के कारण आयी आपदा की मार यात्रा मार्गों पर भी पड़ी और आयोजन से जुड़ी समिति ने यात्रा से जुड़े गांवों और कस्बों की स्थिति और यात्रा के भागीदारों की सलाह पर यात्रा फिलहाल टाल दी.
समिति के सचिव और राज्य सरकार की नंदादेवी प्राधिकरण के सचिव भुवन नौटियाल ने बताया कि यात्रा को स्थगित करने से पहले कुंवर के नेतृत्व में इलाकों का स्थलीय जायजा लिया.
नौटियाल ने बताया कि यात्रा टाले जाने के बावजूद इसमें शामिल होने वाले देवी-देवताओं की परंपरागत पूजा 26 अगस्त से यथावत होगी.